Breaking News

हैकर युवक-युवती गैंग के साथ गिरफ्तार? 1 करोड़ की ठगी केस का हुआ पर्दाफाश

Advertisements

हैकर युवक-युवती गैंग के साथ गिरफ्तार? 1 करोड़ की ठगी केस का हुआ पर्दाफाश

Advertisements

टेकचंद्र सनोडिया शास्त्री: सह-संपादक रिपोर्ट

Advertisements

लखनऊ। उत्तरप्रदेश के ग्राहक सेवा केंद्र चलाने वाले हैकर उदित ने अपनी साइबर एक्सपर्ट प्रेमिका नैंसी के साथ मिलकर गिरोह बनाया और श्रम विभाग के सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के पोर्टल को हैक कर 1.10 करोड़ रुपये ठग लिए। क्राइम ब्रांच ने बुधवार को घटना का खुलासा करते हुए मास्टरमाइंड समेत छह को गिरफ्तार कर लिया। गुडवर्क करने वाली टीम को पुलिस कमिश्नर ने एक लाख रुपये इनाम की घोषणा की है। श्रम विभाग के पोर्टल में सेंधमारी कर 1 करोड़ 10 लाख 55 हजार रुपये हड़पने के मामले में क्राइम ब्रांच की साइबर सेल जांच कर रही थी। Also Read – भाजपा ने इलेक्टोरल बॉण्ड को रिश्वत और कमीशन लेने का माध्यम बना दिया था : राहुल गांधी डीसीपी क्राइम आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि गिरफ्तार आरोपितों में सजेती निवासी मास्टरमाइंड उदित मिश्रा जो वर्तमान में 19वीं मंजिल बिल्डिंग पारा लखनऊ में रह रहा है, उसके भाई अंकित मिश्रा, उदित की गर्लफ्रेंड वीर सावरकर नगर फेस 2 बुटी बोरी नागपुर निवासी नैंसी ठाकुर, वासिदपुर टिगरी मुरादाबाद निवासी मोहम्मद यासीन, अम्बेडकरनगर कटघर मुरादाबाद निवासी ललित कश्यप और आदर्श नगर सेक्टर 1 सीतापुर निवासी शिक्षा विभाग में एकाउंटेंट विनय दीक्षित को गिरफ्तार किया है। Also Read – CM खट्टर ने कहा: ऊर्जा हमारी लाइफ लाइन है एडीसीपी क्राइम मनीष सोनकर ने बताया कि मास्टर माइंड उदित मिश्रा डेढ़ साल पहले तक सजेती में ग्राहक सेवा केन्द्र संचालित करता था। इसी दौरान यह नैंसी समेत अन्य आरोपितों के सम्पर्क में आया। उदित और नैंसी ऑनलाइन साइबर सिक्योरिटी के कई कोर्स कर चुके हैं। इस कारण दोनों ही खुद को एथिकल हैकर बताते हैं। इस दौरान उदित मिश्रा ने श्रम विभाग के कई अधिकारियों के साथ मेल मिलाप बढ़ा लिया था। उसे श्रम विभाग में आसानी से एंट्री मिल जाती थी। पोर्टल की कोई भी समस्या होने पर उसे बाकयादा फोन करके बुलाया जाता था। पोर्टल को ठीक करने की आड़ में वह उन बग के बारे में जानकारी प्राप्त कर चुका था, जिसे पोर्टल बनाते समय खामियों के लिए जानबूझकर छोड़ा गया था। इन खामियों की जानकारी के बाद उदित ने कई तरह के बाईपास तलाशे। जिससे बिना अधिकारी के वेरीफिकेशन के प्रक्रिया को शुरु कर दिया गया है।

Advertisements

About विश्व भारत

Check Also

युवती को बनाया हवस का शिकार? अब छोटी बहन पर बुरी नजर : क्या है मामला?

युवती को बनाया हवस का शिकार? अब छोटी बहन पर बुरी नजर : क्या है …

नागपूर : खापरखेडा बिजलीघर बना शराबियों और अय्याशियों का अड्डा! नॉनवेज पार्टी, नशे में धुत मिले कर्मचारी

नागपूर : खापरखेडा बिजलीघर बना शराबियों और अय्याशियों का अड्डा! नॉनवेज पार्टी, नशे में धुत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *