Breaking News

‘मोदी की गारंटी’ का मतलब क्या है, कैसे करता है काम? पीएम ने खुद समझा दिया

Advertisements

‘मोदी की गारंटी’ का मतलब क्या है, कैसे करता है काम? पीएम ने खुद समझा दिया

Advertisements

 

टेकचंद्र सनोडिया शास्त्री: सह-संपादक रिपोर्ट

Advertisements

 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विकसित भारत संकल्प यात्रा के दौरान छोटे शहरों के विकास को अहम बताया। उन्होंने कहा कि विकसित भारत बनाने के उनके संकल्प का केंद्र छोटे शहरों का विकास है। मोदी ने अपनी गाड़ी ‘मोदी की गारंटी’ के जरिए गांवों और शहरों की यात्रा की शुरुआत की।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को भारत को विकसित देश बनाने के लिहाज से छोटे शहरों के विकास को अहम बताया। पीएम मोदी ने कहा कि ‘जब सभी से उम्मीद खत्म हो जाती है, तब ‘मोदी की गारंटी’ शुरू होती है।’ मोदी ने कहा कि वर्ष 2047 तक ‘विकसित भारत’ बनाने के उनके संकल्प के केंद्र में छोटे शहरों का विकास है। ‘वीडियो कॉन्फ्रेंस’ के जरिए ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ के लाभार्थियों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि विकसित भारत के संकल्प के साथ ‘मोदी की गारंटी गाड़ी’ देश के हर कोने तक पंहुच रही है।

उन्होंने कहा कि एक महीने में ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ हजारों गांवों और शहरों तक पहुंच गई जिन्में ज्यादातर छोटे कस्बे हैं। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार एक परिवार के सदस्य की तरह हर किसी की समस्याओं को कम करने की कोशिश कर रही है। मोदी ने कहा, ”यह हमारी सरकार है जिसने गरीबों, किसानों, छोटे व्यापारियों और समाज के विभिन्न वर्गों की मदद की है। मोदी की गारंटी बाकी सभी से उम्मीद खत्म होने के बाद शुरू होती है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद लंबे समय तक विकास का लाभ कुछ बड़े शहरों तक ही सीमित था, लेकिन उनकी सरकार छोटे शहरों के विकास पर ध्यान केंद्रित कर रही है और इससे विकसित भारत की नींव मजबूत होगी।

 

बक्सर में घूम रही ‘मोदी की गारंटी’ पूरी करने वाली गाड़ी, ऑन द स्पॉट दी जा रही मदद

 

उन्होंने सभी से विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने का भी आग्रह किया। उन्होंने कहा, ”भले ही मोदी ने विकसित भारत संकल्प यात्रा को हरी झंडी दिखा दी है, लेकिन सच्चाई यह है कि आज उस यात्रा की कमान देशवासियों ने अपने हाथ में ले ली है। जिस स्थान पर यात्रा रुकती है, वहां दूसरे गांवों या शहरों के लोग यात्रा का नेतृत्व करने लगते हैं। मोदी ने पांच राज्यों – राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम – में ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। यह यात्रा अन्य राज्यों में पहले ही शुरू हो गई थी, लेकिन इन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की वजह से लागू आदर्श आचार संहिता के कारण इसकी शुरुआत में देरी हुई।

 

राजस्थान: बीजेपी सरकार का पहला दिन, साढ़े छह घंटे कामकाज और 4 बड़े फैसले, पढ़ें एक्शन में भजनलाल

 

मोदी ने विभिन्न राज्यों के उन लाभार्थियों से बातचीत भी की जिन्होंने विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ उठाया है। प्रधानमंत्री ने एक लाभार्थी से बातचीत करते हुए कहा कि देश की ‘आत्मनिर्भर’ महिलाएं न केवल अपना भरण-पोषण कर रही हैं, बल्कि दूसरों के लिए भी वरदान बन रही हैं। इससे पहले कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि अब हर किसी का काम तेजी से होता है क्योंकि देश की जनता ‘मोदीजी के लिए वीआईपी’ बन गई है। वर्ष 2047 तक भारत को एक विकसित राष्ट्र बनाने का आह्वान करने वाले मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ के लाभार्थियों से बातचीत की।

 

चंद्रयान-3 तो सिर्फ शुरुआत है… अब चांद पर इंसान भेजकर इतिहास रचने की तैयारी, जानिए क्‍या है प्‍लान?

 

इस कार्यक्रम में देशभर से ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ के हजारों लाभार्थी शामिल हुए। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में केंद्रीय मंत्री, सांसद, विधायक और स्थानीय प्रतिनिधि भी शामिल हुए। विकसित भारत संकल्प यात्रा पूरे देश में निकाली जा रही है जिसका उद्देश्य प्रमुख सरकारी योजनाओं को हर लाभार्थी तक पहुंचाना है।

Advertisements

About विश्व भारत

Check Also

मतदानावर होणार उष्णतेचा परिणाम? हवामान विभागाचा इशारा

भारतीय हवामान विभागाने (आयएमडी) एप्रिल ते जूनदरम्यान देशातील बहुतांश भागात उष्णतेची लाट येण्याची शक्यता वर्तवली …

टोलनाके होणार बंद? नवी यंत्रणा कशी असेल?

केंद्र सरकारने पथकर संकलनासाठी ग्लोबल पोझिशनिंग सिस्टीम (जीपीएस) आधारित यंत्रणा आणण्याची योजना आखली आहे. ही …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *