Breaking News

आंख रोग निवारण के लिए बहुत फायदेमंद हो सकती है फिटकरी

Advertisements

आंख रोग निवारण के लिए बहुत फायदेमंद हो सकती है फिटकरी

Advertisements

टेकचंद्र सनोडिया शास्त्री: सह-संपादक रिपोर्ट

Advertisements

फिटकरी की एक ढेले को पानी में डूबोकर ढेले पर लगे पानी को आँखों में बूंद-बूंद कर टपकाएँँ इससे जल्दी ही आँख संबंधी रोगों में लाभ होता है

नेत्रों विशेषज्ञों से उचित सलाह लेकर उपचार का तरीका और सावधानियां बरतने की आवश्यकता है। आंखों की कई समस्याएं खानपान में कमी और खराब जीवनशैली के कारण होती हैं, इन समस्याओं से बचने के लिए आप फिटकरी का इस्तेमाल कर सकते हैं।
भारत में प्राचीन समय से ही फिटकरी (Alum) का इस्तेमाल कई चीजों में किया जाता रहा है। शेविंग के बाद कटने या खून आने से रोकने के लिए फिटकरी का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद माना जाता है। फिटकरी में मौजूद औषधीय गुणों के कारण इसका इस्तेमाल कई कामों में किया जाता है। फिटकरी में पोटैशियम, एल्यूमीनियम सल्फेट और सोडियम होता है, जो सभी तरह के रोगों को ठीक करने के लिए उपयोगी माना जाता है। आयुर्वेद में भी इसके औषधीय गुणों के बारे में बता रखा है। कई लोग फिटकरी का इस्तेमाल घरों को साफ करने के लिए करते हैं, लेकिन दांतों, बालों और त्वचा के लिए भी इसका इस्तेमाल करना फायदेमंद हो सकता है। इसके अलावा क्या आपको पता है कि फिटकरी के इस्तेमाल से आप आंखों से जुड़ी कई समस्याओं में फायदा पा सकते हैं। आंख की रोशनी बढ़ाने से लेकर इंफेक्शन आदि को दूर करने में फिटकरी का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद माना गया है। लेकिन इसके सही ढंग से इस्तेमाल से ही फायदा मिलता है इसके अलावा अगर आप इसका सही ढंग से इस्तेमाल नहीं करते हैं तो आपको कई तरह की समस्याएं भी हो सकती हैं। आइये लखनऊ के प्रसिद्ध आयुर्वेदाचार्य डॉ तुलसी शंकर शुक्ल से जानते हैं फिटकरी के फायदे और इसके इस्तेमाल के तरीकों के बारे में।

आंखों की इन समस्याओं में फायदेमंद फिटकरी

आज के समय में बढ़ते प्रदूषण और बदलती जीवनशैली के कारण आंख से जुड़ी समस्याएं तेजी से बढ़ रही हैं। कंप्यूटर, लैपटॉप का लगातार कई घंटों तक इस्तेमाल, बढ़ता प्रदूषण और असंतुलित खानपान आंख से जुड़ी समस्याओं का प्रमुख कारण है। आंख से जुड़ी समस्याओं से बचने के लिए विटामिन ए युक्त भोजन का सेवन और अच्छी जीवनशैली अपनानी चाहिए। आंखों की कुछ समस्याओं में आप फिटकरी का इस्तेमाल कर फायदा पा सकते हैं आइये जानते हैं इनके बारे में।

रोजमर्रा की कई समस्याओं में बहुत काम आएगी फिटकरी, जानें इसके 6 फायदे और इस्तेमाल का उपाय

1. आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए फिटकरी का इस्तेमाल
आंख की कमजोर रोशनी खानपान में गड़बड़ी और लाइफस्टाइल में बदलाव के कारण हो रही है। आंख की रोशनी कमजोर होने से बचाने के लिए रोजाना व्यायाम और संतुलित व पौष्टिक भोजन का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। आंखों की रोशनी को बरकरार रखने के लिए विटामिन ए से युक्त भोजन का सेवन बहुत फायदेमंद माना जाता है। आंखों की रोशनी कमजोर होने पर आप फिटकरी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप गुलाबी फिटकरी आधा ग्राम लेकर इसें कुछ बूंदे गुलाबजल की मिलें और इसके बाद इसके रस को ड्राप की तरफ दो-दो बूंद आंखों में डालें। ऐसा रोजाना दिन में एक बार ही करें। बार-बार ऐसा करने से आपको नुकसान हो सकता है। इसके लिए सोर्फ़ गुलाबी फिटकरी का ही इस्तेमाल करें।

3. दृष्टि दोष होने पर
दृष्टि दोष यानी दूर या नजदीक की चीजों के दिखाई न देने पर आप फिटकरी का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप एक चने के दाने के बराबर फिटकरी लेकर उसे हल्की आंच पर सेंक लें। अब इसके बाद इसमें 100 ग्राम गुलाबजल मिलाएं और सोते समय रोजाना इसे दो से तीन बूंद आंखों में डालें। ऐसा कुछ दिनों तक करने से आपको फायदा मिलेगा।

4. फंगल इंफेक्शन होने पर फिटकरी का इस्तेमाल
आंखों में फंगल इंफेक्शन होने पर फिटकरी और गुलाबजल का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद माना जाता है। इस समस्या में आप लगभग 1 ग्राम फिटकरी को लेकर उसे हल्की आंच पर तवे पर सेंक लें। अब इसके बाद इसमें लगभग 60 से 70 ग्राम गुलाबजल मिलाएं और इसे एक बोतल में रख लें। अब इसकी दो बूंद रोजाना हर आंख में डालें।

आई बैग्स को दूर करने के लिए अपनाएं ये 5 घरेलू नुस्खे

आप ऊपर बताये गए घरेलू नुस्खे का इस्तेमाल आंखों की इन समस्याओं में कर सकते हैं। इन नुस्खों का इस्तेमाल बताई गयी मात्रा में ही करना चाहिए। इसके अलावा इनका इस्तेमाल करने से पहले आपको डॉक्टर की सलाह जरूर

Advertisements

About विश्व भारत

Check Also

जिल्हाधिकाऱ्यांच्या त्रासामुळे आत्महत्या करणार : उपजिल्हाधिकाऱ्यांची तक्रार

शिंदे-फडणवीस सरकारमध्ये अजित पवारांचे ‘वजन’ वाढताच पुण्याचे ‘कलेक्टर’ झालेल्या सुहास दिवसेंवर त्यांच्याच ‘टीम’मधील प्रांताधिकारी(उपजिल्हाधिकारी)जोगेंद्र कट्यारे …

अधिकाऱ्यांनी केली जंगलात ६४० एकर जमीन खरेदी : जिल्हाधिकाऱ्यांच्या अहवालात काय दडलंय?

सातारा जिल्ह्यातील दुर्गम कांदाटी खोऱ्यातील सह्याद्री व्याघ्र प्रकल्पालगत असलेल्या झाडाणी (ता. महाबळेश्वर) गावात उच्चपदस्थ सरकारी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *