Breaking News

जानिए यहां सट्टेबाज एक्सपर्ट करते हैं लोकसभा चुनाव के परिणाम की भविष्यवाणिया

Advertisements

जानिए यहां सट्टेबाज एक्सपर्ट करते हैं लोकसभा चुनाव के परिणाम की भविष्यवाणिया

Advertisements

टेकचंद्र सनोडिया शास्त्री: सह-संपादक रिपोर्ट

Advertisements

नई दिल्ली।भारत में सट्टा खेलना इन्लीगल है. कई बार पुलिस इन सटोरियों को जेल की हवा खिलाती है. इसके बाद भी अक्सर सट्टा खेलने वाले गैंग पकड़े जाते हैं. भारत में अगर कोई बड़ा मैच होता है तो सट्टे का बाजार गर्म हो जाता है. लेकिन इस बार लोकसभा चुनाव में सट्टेबाजी देखने को मिल रही है. सटोरियों ने कांग्रेस और बीजेपी के भविष्य का आंकलन कर दिया है. मामला राजस्थान के फलोदी का है. यहां के लोगों ने चुनाव के नतीजों की भविष्यवाणी कर डाली है. आइये आपको बताते हैं इन सटोरियों के मुताबिक़, चुनाव में कौन बाजी मारेगा?

राजस्थान के फलोदी के लोग सट्टा खेलने में एक्सपर्ट माने जाते हैं. यहां पर करोड़ों का सट्टा खेला जाता है. वर्ल्डकप या आईपीएल में सट्टेबाजी के मामले बढ़ जाते हैं. इस बार लोकसभा चुनाव में भी सटोरी काफी एक्टिव हो गए हैं. लोगों ने बीजेपी और कांग्रेस के भविष्य पर काफी पैसे दाव पर लगाए हैं. इनके मुताबिक़, इस बार के चुनाव में बीजेपी जीतेगी तो जरूर लेकिन चार सौ के पार नहीं जा पाएगी.

बीजेपी को इतनी सीटें

फलोदी के सटोरियों के मुताबिक़, बीजेपी को इस चुनाव में चार सौ सीटें नहीं मिलेगी. उनके मुताबिक़, बीजेपी को तीन सौ बीस सीट ही मिल पाएगी. लेकिन इतने चरणों के बाद अब बीजेपी के तीन सौ सीट पर सिमटने का आंकलन किया गया है. बात अगर कांग्रेस की करें, तो सटोरियों के मुताबिक़, चुनाव में कांग्रेस मात्र 60 से 63 सीट पर सिमट जाएगी. फलोदी के सटोरियों ने ये आंकलन प्रत्याशियों के नाम, चुनावी सभाओं में लोगों की भीड़ को को देखते हुए लगाया है.

सट्टेबाजी में एक्सपर्ट हैं यहां के लोग, हमेशा करते हैं सही भविष्यवाणी, लोकसभा चुनाव का बताया ऐसा रिजल्ट

राजस्थान के फलोदी में लोगों को सट्टा लगाने का शौक रहा है. सबसे बड़ी बात ये है कि इनका आंकलन हमेशा से सही साबित हुआ है. अब लोकसभा चुनाव में भी सटोरियों ने कांग्रेस और बीजेपी के भविष्य का आंकलन किया है।

करते हैं सटीक आंकलन

फलोदी के लोग सट्टेबाजी में एक्सपर्ट माने जाते हैं. इनकी सट्टेबाजी का आंकलन हमेशा से सही साबित होता है. पहले के समय में इनके बारे में ये कहा जाता था कि ये लोग आकाश देखकर ही बारिश का अंदाजा लगा लेते हैं. इनकी इस खासियत का पता मुंबई में चला और वहां से लोग क्रिकेट, चुनावों में लोगों से सट्टेबाजी करवाने लगे. इस तरह सट्टेबाजी के बाजार में फलोदी के लोगों का नाम होने लगा.

Advertisements

About विश्व भारत

Check Also

खासदारांना दरमहा किती वेतन मिळते?

अलीकडेच लोकसभा निवडणुकीचे निकाल जाहीर झालेत. देशातील ५४३ लोकसभा मतदारसंघांतून भारतीय संसदेच्या कनिष्ठ सभागृहातील लोकसभेच्या …

मायावतीचं मुस्लिम समाजाबद्दल मोठं वक्तव्य

लोकसभा निवडणुकीत एनडीएला बहुमत मिळालं असलं तरी भारतीय जनता पार्टीला केवळ २४० जागा मिळवता आल्या …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *