Breaking News

किसानों को राहत : चना, मसूर एवं राई सरसों के उपार्जन का कार्य प्रारंभ : गेहूं उपार्जन के 35 केंद्र निर्धारित 

Advertisements

चना, मसूर एवं राई सरसों के उपार्जन का कार्य प्रारंभ : गेहूं उपार्जन के 35 केंद्र निर्धारित

Advertisements

टेकचंद्र सनोडिया शास्त्री: सह-संपादक रिपोर्ट

Advertisements

छिन्दवाड़ा व पांढुर्णा जिले में रबी वर्ष में स्थापित 16 उपार्जन केन्द्रों में होगी चना, मसूर एवं राई सरसों की और गेहूं उपार्जन के लिये 85 उपार्जन केन्द्र निर्धारित

छिन्दवाड़ा और पांढुर्णा जिले में रबी वर्ष 2023-24 एवं विपणन वर्ष 2024-25 के अंतर्गत चना, मसूर व राई सरसों के पंजीकृत कृषकों से पूर्व वर्ष की भांति उपार्जन के लिये 16 उपार्जन केन्द्रों का निर्धारण जिला उपार्जन समिति द्वारा किया गया है। कृषि विभाग से प्राप्त निर्देशों के परिपालन में चना, मसूर एवं राई सरसों उपार्जन नीति वर्ष 2023-24 के अनुसार कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह के मार्गदर्शन में चना, मसूर एवं राई सरसों का समर्थन मूल्य क्रमशः 5440 रूपये प्रति क्विंटल, 6425 रूपये प्रति क्विंटल और 5650 रूपये प्रति क्विंटल पर उपार्जन का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है जो आगामी 31 मई 2024 तक चलेगा । जिले के किसान निर्धारित उपार्जन केन्द्रों पर समर्थन मूल्य पर चना, मसूर एवं राई सरसों का विक्रय कर सकते हैं ।

 

उप संचालक कृषि जितेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि तहसील पांढुर्णा में एमपीडब्ल्यूएलसी पांढुर्णा, मोहखेड़ में रुचि वेयरहाउस 23 लिंगा मोहखेड़, सौंसर में माँ वेयर हाउस साईखेड़ा, जुन्नारदेव में नरेन्द्र उइके वेयरहाउस जुन्नारदेव, तामिया में श्री हरी वेयरहाउस झिरपा, हर्रई में आदिम जाति सेवा सहकारी समिति बसुरिया हर्रई, अमरवाड़ा में लक्ष्मी वेयर हाउस अमरवाडा, वेंकटेश वेयरहाउस अमरवाडा व श्री वेयरहाउस अमरवाडा, चौरई में पटेल वेयरहाउस पलटवारा चौरई, भार‌द्वाज वेयरहाउस लिखड़ी कुंडा, दादा साई वेयरहाउस खुटिया व ठाकुर वेयरहाउस चौरई, छिन्दवाडा में एमपीडब्ल्यूएलसी-3 छिंदवाडा, बिछुआ में रूचि वेयरहाउस 23 लिंगा मोहखेड़ और उमरेठ व परासिया में सेवा सहकारी समिति मर्यादित रिधोरामेट सोनापिपरी तहसील परासिया में चना, मसूर एवं राई सरसों का समर्थन मूल्य पर उपार्जन किया जा रहा है।

 

उन्होंने किसानों से अपील की है कि चना, मसूर एवं राई सरसों विक्रय के लिये स्लॉट बुक कराकर निर्धारित समयावधि में उपज विक्रय के लिए अपनी संबंधित समिति या संस्था में जायें। अधिक जानकारी के लिये संबंधित वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी से संपर्क किया जा सकता है।

 

गेहूं उपार्जन के लिये 85 उपार्जन केंद्र

 

छिंदवाड़ा/ 30 मार्च 2024/ छिन्दवाड़ा व पांढुर्णा जिले में विपणन वर्ष 2024-25 के अंतर्गत गेहूं के पंजीकृत कृषकों से पूर्व वर्ष की भांति गेहूं उपार्जन के लिये 85 उपार्जन केन्द्रों का निर्धारण जिला उपार्जन समिति द्वारा किया गया है। इसमें विकासखंड अमरवाड़ा के 7, परासिया के 10, चौरई के 20, छिंदवाड़ा के 17, जुन्नारदेव के 3, तामिया के 4, पांढुर्णा के 5, बिछुआ के 5, मोहखेड़ के 9, सौंसर के एक और हर्रई के 4 उपार्जन केन्द्र शामिल हैं । साथ ही उपार्जन केन्द्रों के प्रकार के अनुसार समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जन के लिये समिति/गोदाम का निर्धारण भी किया गया है।

 

कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने बताया कि विकासखंड अमरवाड़ा में बडेगांव, घोघरी, छुई, सेजा, सिंगोडी में एक-एक और अमरवाड़ा में 2, परासिया में मारई, कुण्डालीकला, रिधोरामेट गाजंडोह, मोरडोंगरी उमरेठ, मानकादेही, पलटवाडा झर्रे, पगारा, कारीडोंगरी, चांदामेटा और परासिया में एक-एक, चौरई में बांकानागनपुर (हरनाखेडी), पांजरा, चांद, मेघदोन, पचगांव, परसगांव, रामगढ, चौरई, साजपानी, देवरी, झिलमिली, माचागोरा, लिखडी खटकर, कुण्डा, हिवरखेडी, गोपालपुर, हिवरखेडी बाम्हनवाडा, कपुरदा समसवाड़ा, गोपालपुर बीझावाडा और समसवाड़ा में एक-एक, छिंदवाड़ा में नेर, चन्हियाकला डागावानी, कुहिया, खापाकला, रोहनाकला, उमरिया इसरा, कपरवाडी मेघासिवनी, बनगांव, मेघासिवनी, गांगीवाडा, पिण्डरईकला, सारना, उभेगांव, गुरैया, माल्हनवाड़ा में एक-एक और छिंदवाड़ा नगर में 2, जुन्नारदेव में जुन्नारदेव पालाचौरई, नवेगांव घानाउमरी और छिंदीकामथ, तामिया में तामिया, झिरपा, देलाखारी और चांवलपानी, पांढुर्णा में नांदनवाडी मांगोरली, पांढुर्णा विपणन, सिवनी, खैरीपैका और तिगांव, बिछुआ में खमारपानी, पाथरी, बिछुआ, करेल और खमरा, मोहखेड़ में लिंगा गोरेघाट, भुताई, सांवरी बदनूर लावाघोघरी, उमरानाला मोहखेड़, सारोठ, सारंगबिहरी, राजेगांव, खूनाझिरकला और बीसापुरकला, सौंसर में पिपलानारायणवार पीपला पंधराखेडी मोहगांव बानाबाकोडा एवं हर्रई में बटकाखापा, हर्रई, धनौरा और सरलाखापा में गेहूं उपार्जन स्थल बनाये गये हैं

Advertisements

About विश्व भारत

Check Also

अवकाळी, गारपिटीमुळे विदर्भ, मराठवाडा, उत्तर महाराष्ट्रात पिकांचे प्रचंड नुकसान

पश्चिम विदर्भातील अमरावती, बुलढाणा, वाशिमसह मराठवाड्यातील छत्रपती संभाजीनगर आणि जालना तसेच उत्तर महाराष्ट्रातील जळगाव या …

नागपूर जिल्ह्यात पावसाचा इशारा : गारपीट?

25 व 26 फेब्रुवारी या काळात अवकाळी पावसाची शक्यता आहे. विदर्भातील अकोला व बुलढाणा हे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *