Breaking News

नागपूर अधिवेशन में 15 शहरों की पुलिस संभाल रही है बंदोबस्त की कमान

Advertisements

 

टेकचंद्र सनोडिया शास्त्री: सह-संपादक रिपोर्ट

Advertisements

नागपुर. उपराजधानी में 8 दिसंबर से शीतसत्र शुरू होने वाला है। इस बार राज्य के 15 शहरों की पुलिस को शीतकालीन अधिवेशन बंदोबस्त के लिए बुलाया गया है। शहर के पुलिस लाइन टाकली में राज्य के अलग-अलग शहरों से पुलिस जवानों का आगमन शुरू होने वाला है। पुलिस मुख्यालय में जवानों को ठहरने का इंतजाम शुरू कर दिया गया है। इस बार पुलिस जवानों को तंबू में रहने की नौबत न पड़े, इसका खास ख्याल रखा जाने वाला है। सूत्रों के अनुसार शीतसत्र बंदोबस्त में एसआरपी की 8 टुकडिय़ां तैनात रहेंगी। विधान भवन इन जवानों के सुरक्षा घेरे में रहेगा। टुकड़ी के जवान विधान भवन के आस-पास गश्त लगाते नजर आएंगे।
विधान भवन सहित 35 स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने वाले हैं। सीसीटीवी कैमरे पर पुलिस के जवानों की हर पल नजर रहेगी। शीतसत्र बंदोबस्त की सुरक्षा की जिम्मेदारी 13 आईपीएस स्तर के अधिकारियों को सौंपी गई है। शहर की विशेष पुलिस शाखा ने शीतसत्र बंदोबस्त के लिए राज्य के मुंबई (शहर व ग्रामीण), ठाणे, पुणे (शहर व ग्रामीण), औरंगाबाद , नागपुर ग्रामीण, अकोला, सीआईडी, नांदेड, नाशिक, यवतमाल, वाशिम सहित 15 शहरों से पुलिस अधिकारी- कर्मचारी शहर में बंदोबस्त का मोर्चा संभालेंगे।
मुख्यमंत्री के लिए आएगा विशेष दस्ता
सूत्रों ने बताया कि शीतसत्र के दौरान मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की सुरक्षा व्यवस्था के मद्ेदनजर मुंबई से विशेष दस्ते को बुलाया जाएगा। इसके साथ ही रामगिरी, देवगिरी, विधान भवन व अन्य नेताओं व मंत्रियों के निवास पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम रहेगा। इस बार नेता व मंत्रियों से मिलने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ सकती है। शहर पुलिस के कंधों पर मोर्चा लेकर आने वाले आंदोलनकारियों की सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी रहेगी। शीतसत्र में किसी प्रकार की अनहोनी न हो इसके लिए पुलिस प्रशासन हर कदम फूंक-फूंककर रख रहा है।
कुछ पुलिस के जवान सादे वेश में धरना स्थल, मोर्चा स्थल पर निगरानी रखेंगे। किसी संदिग्ध के दिखाई देने पर वे उसे तत्काल गिरफ्तार करेंगे। अधिवेशन के दौरान श्वान दस्ते व बम निरोधक दस्ते के अलावा विशेष रूप से प्रशिक्षित कमांडो को तैनात किया जाएगा। शहर में 24 गश्ती दल, चार्ली कमांडो और विशेष पुलिस गश्ती वाहन सुरक्षा में लगाए गए हैं। 8 फिक्स प्वाइंट बनाए गए हैं। सभी पुलिस जवानों पर नियंत्रण रखने के लिए अस्थायी रूप से पुलिस नियंत्रण कक्ष भी बनाया जाएगा।

Advertisements

3 हजार पुलिस करेगी बाहर की पहरेदारी

शीतसत्र में तीन हजार पुलिस जवान बाहर की पहरेदारी करेंगे। वे मोर्चास्थल से लेकर विधानभवन तक पहुंचने वाले संगठनों पर पैनी नजर रखेंगे। इस वर्ष शीतसत्र बंदोबस्त में 13 पुलिस उपायुक्त – पुलिस अधीक्षक, 29 सहायक पुलिस आयुक्त, 74 पुलिस निरीक्षक, 6 महिला पुलिस निरीक्षक, 259 पुलिस उपनिरीक्षक, 52 महिला पुलिस उपनिरीक्षक, 1600 से अधिक पुलिस सिपाही, 329 महिला पुलिस सिपाही, राज्य आरक्षी पुलिस दल के 14 प्लाटून, 8 कंपनियों के जवानों का समावेश है। इसके अलावा सुरक्षा व्यवस्था की बागडोर नागपुर के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी संभालेंगे। बंदोबस्त के लिए प्रशिक्षु पुलिस जवानों को भी लगाया जाएगा। पूरे नागपुर शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में प्रत्येक राज्य मार्ग राज्य महामार्ग और प्रत्येक चौराहों मे तगडा पुलिस बंदोबस्त है।

पुलिस अधिकारियों-कर्मियों को भोजन को भोजन व्यवस्था

नागपुर उपराजधानी अंतर्गत शहर विभाग पुलिस नियंत्रण कक्ष परिसर मे दूर-दूर से आये पुलिस अधिकारियों तथा पुलिस कर्मियों के लिए शुद्ध पेयजल, भोजनालय और सभी आवश्यक सुविधा संसाधन की समुचित व्यवस्था की गई है। भोजन तैयार करने के लिए रसोई या मध्यप्रदेश के सिवनी जिला से मंगाए गए हैं। सुरुचिपूर्ण भोजन करके सभी अधिकारी और कर्मचारियों ने भोजन का लाभ उठा रहे हैं।

Advertisements

About विश्व भारत

Check Also

जरांगेचा सरकारवर दबाव : हायकोर्टात याचिका

राज्य मागासवर्गीय आयोगाचे अध्यक्ष निवृत्त हायकोर्टाचे न्यायमूर्ती सुनील शुक्रे यांच्यासह आयोगाच्या इतर सदस्यांच्या नियुक्तीला जनहित …

लोकसभा चुनाव कब होंगे? चीफ इलेक्शन कमिश्नर राजीव कुमार ने दिया बड़ा अपडेट

2024 लोकसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग से तैयारियां पूरी कर ली हैं। मुख्य चुनाव …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *