Breaking News

उल्लासपूर्ण रीती से मनाई गई मां पीताम्बरा माई,और छिन्नमस्तिका माई की जयन्ती

Advertisements

उल्लासपूर्ण रीती से मनाई गई मां पीताम्बरा माई,और छिन्नमस्तिका माई की जयन्ती

Advertisements

टेकचंद्र सनोडिया शास्त्री: सह-संपादक रिपोर्ट

Advertisements

सिवनी। नगर के जीएनरोड महावीर मढ़िया के सामने श्यामा माई मंदिर में बृहस्पतिवार 8 फरवरी माघ कृष्ण चतुर्दशी रटन्ति चतुर्दशी के महापुण्यावसर पर श्रीश्री श्यामा मन्दिरम् में जगदम्बा श्रीश्री पीताम्बरा माई एवं श्रीश्री छिन्नमस्तिका माई के जयन्ती उत्सव को उल्लासपूर्ण रीती से मनाई गई।

यहां गुरुवार को मध्यान्ह 11.20 मिनिट से श्री पीताम्बरामाई एवं श्रीछिन्नमस्तिका माई का जयन्ती अभिषेक 12.45 तक। तत्पश्चात श्रृंगार एवं भोगसमर्पण।दीक्षा समारोह किया गया।

 

अपरान्ह 4.00 बजे से महापूजा होम, बलिदान एवं पुष्पांजलि सायं 7.00 बजे, तत्पश्चात दीपदान, 7.30 बजे सायंकालीन आरती जे बाद महाप्रसाद वितरण किया गया।

 

जिन भक्तों को मंगल अथवा राहु-केतु से सम्बन्धित समस्याएं थी। मंगल से सम्बन्धित विशेष समस्याएं (ऋण ,मांगलिकयोग, विवाह एवं रक्तदोषादि रोग) जैसे कष्ट थे वे अभिषेक के समय पर उपस्थित होकर मां के दर्शन कर प्रार्थना किए एवं चरणोदक ग्रहण किए। तथा सायंकाल दीपदान (पांच दीप सरसों के तेल के) एवं उत्सर्ग सामग्री (पांचफल, ,पान के बीड़े,एवं मालापुष्प) अर्पित किया गया। इससे उपरोक्त सभी समस्याओं का शीघ्र शमन हेतु एवं मां के अनुग्रह से शत्रुबाधादि शमन होकर शान्ति प्राप्त की।

 

मां पीताम्बरा देवी को

Advertisements

About विश्व भारत

Check Also

(भाग:301)चक्रवर्ती सम्राट दशरथ-कौशल्यानंन्द नंदन मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम जन्म और रामनवमी की महिमा

(भाग:301)चक्रवर्ती सम्राट दशरथ-कौशल्यानंन्द नंदन मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम जन्म और रामनवमी की महिमा टेकचंद्र सनोडिया शास्त्री: …

(भाग:300) देवी देवता और असुर भी करते हैं माता सिद्धिदात्री की नवधा भक्ति पूजा अर्चना और प्रार्थना

(भाग:300) देवी देवता और असुर भी करते हैं माता सिद्धिदात्री की नवधा भक्ति पूजा अर्चना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *