Breaking News

पं.बंगाल में TMC नेता पर यौन उत्पीड़न का आरोप! लड़कियों को रात में उठा रहे TMC के गुंडे? केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का बयान 

Advertisements

पं बंगाल में TMC नेता पर यौन उत्पीड़न का आरोप! लड़कियों को रात में उठा रहे TMC के गुंडे? केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के बयान

Advertisements

टेकचंद्र सनोडिया शास्त्री: सह-संपादक रिपोर्ट

Advertisements

पश्चिम वंगाल में प्रदर्शनकारियों ने एक दिन पहले संदेशखाली में TMC नेता शिवप्रसाद हाजरा के फार्म हाउस को आग लगा दी थी। पश्चिम बंगाल के साउथ 24 परगना जिले के संदेशखाली में महिलाओं ने TMC नेता शेख शाहजहां और उनके समर्थकों पर यौन उत्पीड़न और जमीन हड़पने का आरोप लगाया है। इस मामले में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- ममता बनर्जी TMC के गुंडों को संरक्षण दे रही हैं।

 

केंद्रीय मंत्री स्मृती ईरानी ने सोमवार को कहा कि संदेशखाली की महिलाओं ने अपनी व्यथा बांग्ला में शेयर किया है। देश के कई लोग इसे समझ नहीं पाए होंगे। मैं आपको इसे बताती हूं। उन्होंने कहा- TMC के गुंडे घर-घर जाकर देखते थे कि किस घर की कौन सी औरत सुंदर है। कौन कम उम्र की है?

 

महिलाओं ने आरोप लगाया है कि TMC के लोग उन्हें रात में उठा कर लेकर चले जाते थे। जब तक TMC वाले नहीं चाहते थे, तब तक इन औरतों को नहीं छोड़ा जाता था। ईरानी के मुताबिक महिलाओं ने बताया- TMC के गुंडे ज्यादातर हिंदू परिवार की महिलाओं को टारगेट करते थे।

 

ईरानी ने घटना को लेकर राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा- ममता हिंदुओं के नरसंहार के लिए जानी जाती हैं। वह अपने गुट के पुरुषों को महिलाओं से अभद्रता करने की अनुमति दे रही हैं। देश के लोग इसे चुपचाप कैसे देख सकते हैं। ममता राजनीतिक फायदों के लिए जातियों की गरिमा का सौदा कर रही हैं।

संदेशखाली की घटना पर भाजपा समर्थकों ने सोमवार को TMC के खिलाफ प्रदर्शन किया।

भाजपा का विधानसभा में प्रदर्शन, 6 विधायकों को निलंबित किया गया है,

विधानसभा में सोमवार को इस मामले पर भाजपा विधायकों ने हंगामा किया। तृणमूल सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने पर नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी, अग्निमित्रा पॉल, मिहिर गोस्वामी, बंकिम घोष, तापसी मंडल और शंकर घोष को असंसदीय आचरण के आरोप में विधानसभा के शेष सत्र से निलंबित कर दिया गया।

 

राज्यपाल बोले- संदेशखाली में हालात भयावह और चौंकाने वाले है।

उधर, पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सीवी आनंद बोस सोमवार को सुबह केरल से कोलकाता पहुंचे और सीधे नॉर्थ 24 परगना जिले के संदेशखाली रवाना हो गए। बोस ने कहा कि संदेशखाली में स्थिति भयावह और चौंकाने वाली है। बोस जब संदेशखाली पहुंचे तो TMC समर्थकों ने हाथों में बैनर लेकर उनके खिलाफ प्रदर्शन किया। बोस ने संदेशखाली पर राज्य सरकार से रिपोर्ट भी मांगी है।

हालांकि, राज्यपाल सीवी आनंद बोस संदेशखाली का दौरा किया और आरोप लगाने वाली महिलाओं से बात की। इसके बाद वे देर शाम दिल्ली रवाना हो गए।

उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखाली में हुआ क्या है

दरअसल, पिछले कुछ दिनों से संदेशखाली में स्थानीय महिलाएं प्रदर्शन कर रहीं है। उन्होंने TMC नेता शेख शाहजहां और उनके सहयोगियों पर उनकी जमीनों पर कब्जा करने का आरोप लगाया है। महिलाओं ने शेख शाहजहां की गिरफ्तारी की मांग की है। उन्होंने एक अन्य TMC नेता शिव प्रसाद हाजरा के खेत और फॉर्म हाउस में आग भी लगा दी।

ED अफसरों ने आरोप लगाया था कि 1 हजार से ज्यादा लोगों ने उनकी कार पर हमला किया है।

पश्चिम बंगाल में कोरोना के दौरान कथित तौर पर हुए हजारों करोड़ रुपए के राशन घोटाले में ED ने 5 जनवरी को राज्य में 15 ठिकानों पर छापा मारा था। टीम नॉर्थ 24 परगना जिले के संदेशखाली गांव में शेख शाहजहां और शंकर अध्य के घर भी रेड डालने गई थी। इस दौरान उन पर TMC समर्थकों ने जानलेवा हमला किया था। इसमें तीन अधिकारी घायल हो गए थे। इसके बाद से शाहजहां फरार है। शेख शाहजहां के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया है। पूरी खबर पढ़ें…

पुलिस का क्या कहना है

संदेशखाली की घटना को लेकर बंगाल पुलिस का कहना है कि वहां स्थिति शांतिपूर्ण है। वहां से किसी भी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है, हम किसी को भी वहां कानून-व्यवस्था की स्थिति को बिगाड़ने की अनुमति नहीं देंगे। कानून का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे।

Advertisements

About विश्व भारत

Check Also

उपचाराच्या नावाखाली तरुणीवर लैंगिक अत्याचार

उपचारासाठी आलेल्या २२ वर्षीय तरुणीवर नवी मुंबईतील नालासोपारा येथील एका स्वयंघोषित वैद्याने बलात्कार केल्याची धक्कादायक …

शिक्षा सुनावताच कोर्टातच कोसळला क्रिकेटपटू

ऑस्ट्रेलियाचे माजी क्रिकेटपटू आणि प्रसिद्ध कॉमेन्ट्रेटर मायकल स्लॅटर यांच्या अडचणीत वाढ झाली आहे. जवळपास डझनभर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *