Breaking News

जहां भाजपा के विधायक, सांसद वहां नियम विरूद्ध बिकी आदिवासियों की जमीन: संसद नकुलनाथ

Advertisements

जहां भाजपा के विधायक, सांसद वहां नियम विरूद्ध बिकी आदिवासियों की जमीन: संसद नकुलनाथ

Advertisements

टेकचंद्र सनोडिया शास्त्री: सह-संपादक रिपोर्ट

Advertisements

छिन्दवाड़ा। तामिया के पातालकोट के अंतिम छोर में रहने वाला आदिवासी हो या फिर गोपतराई के रहवासी सभी की भूमि, अधिकार व सम्मान की रक्षा पूर्व सीएम कमलनाथ जी एवं कांग्रेस ने की है। आदिवासियों की जमीन सिर्फ आदिवासी ही खरीद सके ऐसा नियम बनाया, किन्तु केन्द्र और राज्य में भाजपा की सरकार बनी तो इन्होंने आदिवासियों का दमन करने के लिये नियम का तोड़ तलाशा और आदिवासियों की जमीन की खरीद फरोख्त प्रारम्भ कर दी।

 

जहां-जहां भाजपा के विधायक और सांसद है वहां आदिवासियों की जमीनें खूब गैर आदिवासियों को बेची गई। उक्त उदगार आज जिले के युवा सांसद नकुलनाथ ने जामई विधानसभा क्षेत्र के गोपतराई व सेहराढ़ाना में आयोजित जनसभा में व्यक्त किये। गोपतराई व सेहराढ़ाना तक पहुंच मार्ग व तामिया के पातालाकोट के अंतिम गांव तक पक्की सड़क व बिजली पहुंची है तो इसका श्रेय कमलनाथ जी को जाता है जिन्होंने आदिवासी अंचल को विकासखण्ड मुख्यालय और फिर जिला मुख्यालय से जोड़ा साथ ही वनोपज को उचित मूल्य दिलाकर आदिवासी परिवारों को आर्थिक रूप से मजबूत करने का कार्य किया है।

 

कांग्रेस ने आदिवासी परिवारों को आरक्षण देकर समाज की मुख्य धारा से जोड़ने का प्रयास किया, किन्तु दूसरी ओर भाजपा है जिसने सत्ता में आते ही आदिवासियों पर अत्याचार से शुरुआत की है।

 

प्रदेश में बीते 20 वर्ष एवं राज्य में 10 वर्ष से भाजपा की सरकार है और इस दौरान आदिवासियों पर सर्वाधिक अत्याचार के मामले सामने हैं जो किसी से छिपे नहीं है। रायसेन में आदिवासी के साथ जूतों से मारपीट करना, बालाघाट के वारासिवनी में आदिवासी भाई से पैर चटवाना, इंदौर में आदिवासी को बंधक बनाकर पीटना, ग्वालियर में आदिवासियों को जूते की माला पहनाने का मामला हो या फिर आदिवासी पर पेशाब करने जैसी गम्भीर घटना, इनमें से अधिकांश में तो भाजपा के नेता या भाजपा नेताओं से जुड़े हुये लोग संलिप्त पाये गये हैं। कटनी जिले में भाजपा के विधायक और सांसद है जिनके संरक्षण में 204 आदिवासियों की जमीन गैर आदिवासियों को बेखटक बेच दी गई जिसमें सरकार की सक्रिय भूमिका रही है, क्योंकि स्थानीय प्रशासन की अनुमति के बगैर ये संभाव नहीं होता, किन्तु छिन्दवाड़ा में कांग्रेस के विधायक और सांसद है जो हमेशा आदिवासियों की हक और अधिकारों के लिये आपके साथ कांधे से कांधा मिलाकर खड़े हैं। आप भाजपा को चुनते हैं तो आपको किन कठिनाइयों का सामना करना होगा यह सबकुछ आप सभी के सामने हैं। एक तरफ वह पार्टी है जो आदिवासियों को मिटाने में जुटी है और दूसरी ओर मैं और कमलनाथ जी है जो जिले के हर वर्ग को संवारने में जुटे हैं।

 

क्षेत्रीय विधायक सुनील उइके ने कमलनाथ एवं नकुलनाथ की उपलब्धियां बताते हुये कहा कि आने वाली 19 अप्रैल को क्षेत्र की जनता श्री नकुलनाथ को पुनः सांसद चुनकर दिल्ली भेजेगी और क्षेत्र का सर्वांगीण विकास को आगे बढ़ायेगी। मंच संचालन सरपंच संघ के अध्यक्ष राजेंद्र ठाकुर, पर्यवेक्षक जमील खान ने किया। कार्यक्रम में मनमोहन साहू, इंद्र कुमार बत्रा, सोनू यादव, अतुल अजब सिंह, बंटी साहू, अशोक मालवी, जगदीश यदुवंशी, बल्लू सोनी, अनिल भारती, लोकेश डेहरिया, राजदीप साहू सहित बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित रहे।

Advertisements

About विश्व भारत

Check Also

PM मोदींचा नागपुरात मुक्काम, तळेगावात सभा : नागपूर, रामटेकमध्ये आज मतदान

१९ एप्रिलला राज्यांतील पाच लोकसभा मतदारसंघात मतदान आहे. यात नागपूरचा समावेश आहे. आणि त्याच दिवशी …

महाराष्ट्र में मायावती को बड़ा झटका, एकनाथ शिंदे गुट की शिवसेना में शामिल हुए BSP के दो बड़े नेता

महाराष्ट्र में मायावती को बड़ा झटका, एकनाथ शिंदे गुट की शिवसेना में शामिल हुए BSP …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *