Breaking News

22 जनवरी को सभी मठ मंदिर गुरुद्धारा जगमग दीप विपुल विपुल रत्नमणियों की स्वर्णिम आभा से जगमगाएंगे?बंद रहेंगी शराब दुकानें

Advertisements

22 जनवरी को सभी मठ मंदिर गुरुद्धारा जगमग दीप विपुल विपुल रत्नमणियों की स्वर्णिम आभा से जगमगाएंगे?बंद रहेंगी शराब दुकानें

Advertisements

टेकचंद्र सनोडिया शास्त्री: सह-संपादक रिपोर्ट

Advertisements

नई दिल्ली।22 जनवरी को अयोध्या में रामलला प्राण प्रतिष्ठा के पर्व पर भारतवर्ष के सभी मठ मंदिर,गुरुद्धारा और देवालय जगमगदीप विपुल रत्नमणियों की स्वर्णिम आभा से जगमगा उठेगा। भारत वासियों के घर आंगन दीपोत्सव की रौशनी से रोशन होगा। अयोध्या में श्रीरामलला प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियां देश के सभी तीर्थ स्थलों,सभी राजधानी नगर महानगर गांव देहांत के घर आंगन दीप पर्व की भांति जगमगा उठेंगे। पुरानी और नई दिल्ली,मुंबई, बेंगलूर,कालाहांडी,कटक,जमशेदपुर, टाटानगर, रांची हटिया, पश्चिम सिंहभूम, खड़गपुर,असम गोवाहाटी, दार्जिलिंग, कोलकाता, भुवनेश्वर,जगन्नाथपुरी, त्रिवेन्द्रम, विशाखापट्टनम,चेन्नई, कांचीपुरम, गुजरात सौराष्ट्र,अहमदाबाद, सूरत, पोरबंदर, द्धारका शारदा मठ, काशी बनारस, वाराणसी, मध्यप्रदेश के ग्वालियर, उज्जैन, भोपाल, और सभी नगर महानगरों के प्रत्येक वार्ड में असंख्य दीप जलाए जलाएंगे। इस पावन अवसर पर शहर के मंदिरों गुरूद्धारा और चर्च को सजाया जाएगा। सभी मंदिरों में राम नाम की धुन सुनाई देगी। कानपुर मेयर प्रमिला पांडेय ने इसकी तैयारियां शुरू कर दी हैं।
यूपी के अयोध्या में आगामी 22 जनवरी को श्रीरामलला प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम प्रस्तावित है। वहीं कानपुर में 4 जनवरी से 22 जनवरी तक उत्सव मनाया जाएगा। कानपुर मेयर प्रमिला पांडेय ने उत्सव का शेड्यूल तैयार किया है। उन्होंने बताया कि श्रीरामलला प्राण प्रतिष्ठा के मौके पर कानपुर को 5,61,000 दीपों से सजाया जाएगा। इसके साथ ही कानपुर के सभी मंदिरों, चर्चों, गुरूद्वारों और मस्जिदों में रोशनी की जाएगी। इसके साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर प्राण प्रतिष्ठा के कार्यक्रम का रखे जाएंगे।

कानपुर महापौर प्रमिला पांडेय ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस कर श्रीरामलला प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के शेड्यूल के बारे में विस्तार से बताया। मेयर प्रमिला पांडेय ने बताया कि पांच हजार साल पहले जिस प्रकार भगवान श्रीराम अयोध्या लौटे थे, उस वक्त पूरे देश में दीवाली मनाई गई थी। आगामी 22 जनवरी को कानपुर में एक बार फिर से दीवाली मनाई जाएगी। पूरे शहर में दीप जलाए जाएंगे। सड़क, चौराहों, एतिहासिक और सरकारी इमारतों को सजाया जाएगा।

सभी धर्म गुरूओं से की गई है चर्चा

उन्होंने बताया कि कानपुर में 110 नगर-निगम वार्ड हैं। सभी वार्डों के पार्षदों को 5100 दीप, बत्ती और तेल दिए जाएंगे। पार्षद उन दीयों को मलिन बस्तियों, मंदिरों और गरीबों को वितरण किए जाएंगे। कानपुर में इस तरह से 5,61,000 दीपों से कानपुर को सजाया जाएगा। इसके साथ ही सभी वार्डों के प्रमुख मंदिरों, चर्च, गुरूद्वारा और मस्जिदों को सजाया जाएगा। इस मौके पर सभी धर्म गुरूओं से बातचीत भी की गई है।

राम आएंगे तो अंगना सजाऊंगी

महापौर प्रमिला पांडेया ने बताया कि क्राइस्ट चर्च, ग्वालटोली चर्च, कैंट चर्च, गुमटी गुरूद्वारा, पनकी, जागेश्वर, वनखंडेश्वर, सिद्धनाथ मंदिरों को प्रमुख रूप से सजाया जाएगा। इसके साथ ही पूरे कानपुर में ‘राम आएंगे तो अंगना सजाऊंगी’ धुन बजेगी। मंदिरों में रामनाम का पाठ आयोजित किया जाएगा। ढोल, नागाड़ों की थाप पर भक्ति संगीत गाए जाएंगे। प्रमिला पांडेय 4 जनवरी से 22 जनवरी तक प्रतिदिन एक घंटा पैदल मार्च कर जन जागरण यात्रा निकालेंगी।

कानपुर में भी पड़े हैं भगवान श्रीराम के चरण
कानपुर के बिठूर में भगवान श्रीराम के पद चिह्न पड़े थे। लव-कुश का बचपन अपनी माता सीता के साथ बिताया है। इसलिए कानपुर भी भगवान श्रीराम की धरती है। मुस्लिम भाई भी अपनी मस्जिद पर लाइट से सजावट करेंगे। मैं सभी पक्षों से अपील करती हूं कि इस पावन अवसर को मिल जुलकर मनाएं

22 जनवरी को रामलला अयोध्या मंदिर में विराजमान होंगे. रामलला की प्राणप्रतिष्ठा के उपलक्ष्य में छत्तीसगढ़ के सीएम साय ने राज्य में 22 जनवरी को ड्राई डे का एलान किया है. सीएम ने आगे कहा है कि राज्य के किसान संगठन के द्वारा रामलला के भोग के लिए 100 टन सब्जियां भेजी जी रही हैं. इससे पहले भी 3000 टन सुगंधित चावल भेजे गए थे.
राम मंदिर को लेकर देश भर में तैयारियां चल रही हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 जनवरी को राम मंदिर का उद्घाटन करेंगे. इसके बाद मंदिर में रामलला विराजमान होंगे. इस दौरान छत्तीसगढ़ में भी प्राण प्रतिष्ठा को लेकर खास तैयारी की जा रही हैं. मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने 22 जनवरी को छत्तीसगढ़ में ड्राई डे का एलान किया है. इस दिन राज्य में शराब की दुकाने बंद रहेंगी. सीएम ने कहा है कि इस दौरान रामलला के भोग के लिए सब्जियों की खाप भी भेजी जाएगी.
सीएम विष्णुदेव साय ने कहा कि हमारा सौभाग्य है कि हमारा राज्य रामलला का ननिहाल है. साथ ही ये भी हमारा सौभाग्य है कि रामलला 22 जनवरी को मंदिर में विराजमान होंगे. सीएम ने अपने एक्स पर जानकारी देते हुए लिखा कि प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर 22 जनवरी को छत्तीसगढ़ में शुष्क दिवस रहेगा. अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा समारोह को लेकर प्रभु श्रीराम के ननिहाल छत्तीसगढ़ में खुशी का माहौल है. आगे बताया कि भगवान राम के भोग के लिए उनके ननिहाल से सुगंधित चावलों के बाद अब सब्जियों की खेप भी अयोध्या के लिए भेजी जाएगी. ये सब्जियां छत्तीसगढ़ किसान संघ के द्वारा भेजी जाएंगी.
सीएम ने किसानों से की थी मुलाकात
सीएम विष्णुदेव साय ने 1 जनवरी को पहुना में राज्य के किसान संघ के सदस्यों से मुलाकात की थी. इस दौरान किसानों ने मुख्यमंत्री को 12 और 13 जनवरी को दुर्ग जिले में होने वाले दो दिन के किसान मेले में आने का आमंत्रण दिया था. किसानों ने सीएम साय से कहा कि उनकी करीब 100 टन सब्जी अयोध्या भेजने की योजना है. इस पर सीएम साय ने हामी भर दी है. अब ये किसान सब्जियों की इस खेप को अयोध्या ले जाएंगे. इससे पहले भी राइस मिलर संगठन के द्वारा 3000 टन सुगंधित चावल अयोध्या के लिए भेजा गया था.
ऐसा दावा किया जाता है कि प्रभु श्रीराम 14 वर्ष के वनवास पर जाते समय छत्तीसगढ़ के कई स्थानों से होकर गुजरे थे. साथ ही छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से 27 किमी दूर चंदखुरी गांव को भगवान राम की माता कौशल्या का जन्म स्थान माना जाता है. राज्य की पिछली काग्रेंस सरकार ने गांव में स्थित प्राचीन माता कौशल्या के मंदिर को भव्य रूप से दोबारा बनवाया था.

पीएम मोदी ने किया आग्रह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर देश के वासियों से अपने घरों में पांच दिये जलाने का आग्रह किया है. साथ ही कहा कि मंदिर के उद्घाटन समारोह में अयोध्या ना आएं. 23 जनवरी से सभी लोग मंदिर के दर्शन करने आ सकते हैं और रामलला का आशीर्वाद ले सकते हैं

Advertisements

About विश्व भारत

Check Also

श्रीक्षेत्र कोराडी तीर्थ हनुमान मंदिर प्रांगण में अभि इंजिनियरिंग कार्पोरेशन की ओर से संगीतमय सुंदरकांड

श्रीक्षेत्र कोराडी तीर्थ हनुमान मंदिर प्रांगण में अभि इंजिनियरिंग कार्पोरेशन की ओर से संगीतमय सुंदरकांड …

मंदिर बना जंग का अखाड़ा: श्रद्धालुओं और पुजारियों के बीच झगड़ा, जमकर चले लाठी डंडे

मंदिर बना जंग का अखाड़ा: श्रद्धालुओं और पुजारियों के बीच झगड़ा, जमकर चले लाठी डंडे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *