Breaking News

उद्धव ठाकरे की शिवसेना में हिन्दुत्व नहीं? शरद पवार को संन्यास की सलाह! महाराष्ट्र BJP के नए प्रभारी शर्मा हुए हमलावर

Advertisements

उद्धव ठाकरे की शिवसेना में हिन्दुत्व नहीं? शरद पवार को संन्यास की सलाह! महाराष्ट्र BJP के नए प्रभारी शर्मा हुए हमलावर

Advertisements

टेकचंद्र सनोडिया शास्त्री: सह-संपादक रिपोर्ट

Advertisements

मुंबई । भारतीय जनता पार्टी यूपी के पूर्व उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा को बीजेपी ने महाराष्ट्र का पार्टी प्रभारी बनाया है। मुंबई पहुंचे शर्मा ने मंगलवार को बीजेपी की पूर्व साथी शिवसेना और उसके प्रमुख उद्धव ठाकरे पर हमला बोला। साथ ही शरद पवार को भी राजनीति से संन्यास लेने की सलाह दी है।

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के महाराष्ट्र प्रभारी दिनेश शर्मा ने मंगलवार को उद्धव ठाकरे पर हमला बोला। शर्मा ने कहा कि जिस तरह के हिंदुत्व के लिए शिवसेना (यूबीटी) कार्यकर्ता उम्मीद करते हैं कि वह अब उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी नहीं बल्कि बीजेपी अपना रही है। शर्मा ने यहां संवाददाताओं से कहा कि 2019 में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस के साथ हाथ मिलाकर भारतीय जनता पार्टी को धोखा दिया और पार्टी का रुख हिंदुत्व समर्थक से बदलकर राममंदिर विरोधी बना दिया।

 

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना पर सवाल उठाए जाने लगे हैं, बीजेपी के राज्यसभा सदस्य शर्मा ने कहा कि शिवसेना (यूबीटी) के कार्यकर्ता पार्टी से जिस प्रकार के हिंदुत्व की उम्मीद करते हैं। उस पर बीजेपी चलती है। उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना ने कांग्रेस के साथ हाथ मिला लिया और वह उस राह पर नहीं चलती है। यह वही कांग्रेस है जिसने एक बार अयोध्या में रामलला के अस्तित्व को ही खारिज कर दिया था।

 

यह चुनाव मोदी और भगवान राम के बारे में

उन्होंने दावा किया कि आगामी लोकसभा चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अयोध्या के राममंदिर मुद्दे के इर्द-गिर्द केंद्रित है। उन्होंने कहा कि यह चुनाव मोदी और भगवान राम के बारे में है। मैं एक बैठक में गया जहां महिलाओं ने मुझसे कहा कि वे ऐसे व्यक्ति को चुनना चाहती हैं जो रामलला को मंदिर में वापस लाया है।

 

एमवीए गठबंधन पर साधा निशाना

 

उत्तर प्रदेश के पूर्व उपमुख्यमंत्री शर्मा ने कहा कि बीजेपी में उपयुक्त कमान श्रृंखला है और नेतृत्व एवं सहयोगी दलों के साथ सीट के बंटवारे को लेकर कोई भ्रम नहीं है। महाराष्ट्र में महा विकास अघाड़ी (एमवीए) में अधिकतर परिवार संचालित दल हैं और वे इस चुनाव में अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रहे हैं। एमवीए के घटक बिखरे हुए हैं और उनमें समन्वय नहीं है।

 

कांग्रेस पर बोला हमला

 

उन्होंने इस बात पर भी संतोष जताया कि प्रकाश आंबेडकर के नेतृत्व वाला वंचित बहुजन अघाड़ी अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ रहा है। शर्मा ने कहा कि कांग्रेस ने दिवंगत डॉ बी आर आंबेडकर को दो बार हराया था और उन्हें संसद आने से रोका। अब वह उनके पोते प्रकाश आंबेडकर के साथ वही बर्ताव कर रही है।

इस उम्र में पवार को पद छोड़ देना चाहिए था

उन्होंने शरद पवार के नेतृत्व वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एसपी) पर भी निशाना साधते हुए कहा कि यह राष्ट्रवादी नहीं बल्कि ‘अवसरवादी’ पार्टी है। शर्मा ने कहा कि इस उम्र में पवार को पद छोड़ देना चाहिए था और ‘संन्यास’ ले लेना चाहिए था, लेकिन उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया

Advertisements

About विश्व भारत

Check Also

PM मोदींचा नागपुरात मुक्काम, तळेगावात सभा : नागपूर, रामटेकमध्ये आज मतदान

१९ एप्रिलला राज्यांतील पाच लोकसभा मतदारसंघात मतदान आहे. यात नागपूरचा समावेश आहे. आणि त्याच दिवशी …

महाराष्ट्र में मायावती को बड़ा झटका, एकनाथ शिंदे गुट की शिवसेना में शामिल हुए BSP के दो बड़े नेता

महाराष्ट्र में मायावती को बड़ा झटका, एकनाथ शिंदे गुट की शिवसेना में शामिल हुए BSP …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *